अमेरिकी शेयर बाजार में गिरावट की बाढ़ में डूब सकते हैं घरेलू बाजार

बुधवार को अमेरिकी शेयर बाजारों में तेज गिरावट दर्ज की गई। फेडरल रिजर्व द्वारा एक और ब्याज दरों में बढ़ोतरी की घोषणा के बाद अमेरिकी शेयर बाजार का प्रमुख संवेदी सूचकांक डाउ जोंस 552 अंक गिर गया।

अमेरिकी शेयर बाजार में गिरावट की बाढ़ में डूब सकते हैं घरेलू बाजार

बुधवार को अमेरिकी शेयर बाजारों में तेज गिरावट दर्ज की गई। फेडरल रिजर्व द्वारा फिर से ब्याज दरों में बढ़ोतरी की घोषणा के बाद प्रमुख संवेदनशील सूचकांक डाउ जोंस में अमेरिकी शेयर बाजार 552 अंक की गिरावट के साथ 30183 के स्तर पर बंद हुआ। इसके अलावा एसएंडपी 500 इंडेक्स 1.71% या 66 अंक की गिरावट के साथ 3789.93 और नैस्डैक कंपोजिट 1.79 फीसदी या 204 अंक की गिरावट के साथ 11220 पर बंद हुआ। अगर आज घरेलू बाजार पर इसका असर होता तो एनएसई और बीएसई में बड़ी गिरावट खास बात यह है।

ब्याज दरों में लगातार तीसरी बार बढ़ोतरी

आपको बता दें कि फेड रिजर्व ने लगातार तीसरी बार ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है। अहम बात यह है कि इसमें और तेजी के संकेत हैं। फेड ने अब 3.00-3.25% की सीमा में ब्याज दरों में 75 आधार अंकों की वृद्धि की है। यह आर्थिक मंदी की अवधि के बाद से सबसे अधिक है। आपको बता दें कि साल 2008 में दुनिया में मंदी आई थी।

अमेरिकी तूफान में सारा रोष

बुधवार को तूफान में अमेरिकी शेयर बाजारों में भी बड़े शेयर टूट गए। अमेज़न के शेयर 2.99 प्रतिशत की गिरावट के साथ 118.54 डॉलर पर बंद हुए। वहीं, टेस्ला के शेयर 2.57 फीसदी गिरकर 300.80 डॉलर पर आ गए। गूगल के शेयर में 1.84 फीसदी, जबकि माइक्रोसॉफ्ट के शेयर में 1.44 फीसदी की गिरावट आई। फेसबुक यानि मेटा के शेयर भी 2.72 फीसदी गिरकर 142.12 डॉलर पर बंद हुए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.