जनता के विरोध के बाद बैकफुट पर आया शिक्षा विभाग: 14 स्कूलों को English Medium में बदलने का आदेश रद्द

कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं के विरोध के बाद अंग्रेजी मीडियम स्कूल को लेकर शिक्षा विभाग बैकफुट पर आ गया है। माध्यमिक शिक्षा विभाग ने हाल ही में 14 हिंदी मीडियम स्कूलों को अंग्रेजी मीडियम करने का आदेश जारी किया था। जिसे निरस्त कर दिया गया है। इनमें से सबसे ज्यादा 11 स्कूल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह जिले जोधपुर के हैं। एक स्कूल जयपुर का, एक बीकानेर का और एक अजमेर जिले का है।

जनता के विरोध के बाद बैकफुट पर आया शिक्षा विभाग: 14 स्कूलों को English Medium में बदलने का आदेश रद्द

हालांकि जयपुर समेत राज्य के कई अन्य जिलों में अंग्रेजी माध्यम के स्कूल का विरोध हो रहा है. ऐसे में माना जा रहा है कि आम जनता के विरोध के बाद कुछ और अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों को भी फिर से हिंदी माध्यम में बदला जा सकता है.

दरअसल, राजस्थान के सरकारी स्कूलों को शिक्षा विभाग ने इंग्लिश मीडियम स्कूल में अपग्रेड कर दिया था। लेकिन राज्य के कई जिलों में विरोध शुरू हो गया था. हाल ही में जब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जोधपुर पहुंचे। तब कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हिंदी मीडियम स्कूल को अंग्रेजी मीडियम में बदलने का विरोध किया। जिसके बाद शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला के दखल के बाद शिक्षा विभाग ने बीकानेर, जोधपुर, जयपुर और अजमेर जिलों में स्कूलों को अंग्रेजी माध्यम बनाने का फैसला रद्द कर दिया है.

शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला ने कहा कि राजस्थान में दो हजार से अधिक आबादी वाले गांवों और कस्बों में हिंदी माध्यम के स्कूलों को अंग्रेजी माध्यम में बदल दिया गया है. जिसका कई जगह आम जनता ने स्वागत किया। लेकिन कुछ जगहों पर जनता हिन्दी माध्यम के स्कूल ही चाहती थी। ऐसे में हमने स्थानीय विधायक और शिक्षा विभाग के अधिकारियों से चर्चा कर कुछ स्कूलों में बदलाव किया है. ताकि लोगों की भावनाओं का सम्मान किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.