गुरुग्राम : तीन अजनबियों के बीच छह सर्जरी, देश में पहली बार थ्री-वे स्वैप लिवर ट्रांसप्लांट चेन

मध्य प्रदेश के उद्योगपति संजीव कपूर, उत्तर प्रदेश के उद्योगपति सौरभ गुप्ता और दिल्ली की गृहिणी आदेश कौर को लिवर प्रत्यारोपण की जरूरत थी। टर्मिनल लिवर फेल होने के कारण उनकी जान को खतरा था। उनकी जान बचाने के लिए तत्काल लिवर ट्रांसप्लांट जरूरी था।

गुरुग्राम : तीन अजनबियों के बीच छह सर्जरी, देश में पहली बार थ्री-वे स्वैप लिवर ट्रांसप्लांट चेन

देश में पहली बार लीवर ट्रांसप्लांट में अत्याधुनिक तकनीक से तीन लोगों की जान बचाने का काम किया गया है। इसे थ्री-वे लिवर ट्रांसप्लांट स्वैप या पेयर्ड एक्सचेंज तकनीक कहा जाता है। इसमें टर्मिनल लीवर डिजीज से पीड़ित तीन मरीजों को एक साथ लाइफ सेविंग लीवर ट्रांसप्लांट किया गया।

मेदांता मेडिसिटी के मुख्य सर्जन डॉ. एएस सोइन, डॉ. अमित रस्तोगी और डॉ. प्रश्न भंगुई ने प्रत्यारोपण किया। यह तीन-तरफ़ा अदला-बदली तीन अजनबियों के बीच की गई थी।

मध्य प्रदेश के उद्योगपति संजीव कपूर, उत्तर प्रदेश के उद्योगपति सौरभ गुप्ता और दिल्ली की गृहिणी आदेश कौर को लिवर ट्रांसप्लांट की जरूरत थी। टर्मिनल लिवर फेल होने के कारण उनकी जान को खतरा था। उनकी जान बचाने के लिए तत्काल लिवर प्रत्यारोपण जरूरी था। वह डोनर का इंतजार करने की स्थिति में नहीं था। इसमें एक साल तक का समय लग सकता है। तीनों रोगियों के परिवारों में जीवित दाता थे, लेकिन उनमें से कोई भी उपयुक्त मेल नहीं था। तीनों के बचने की उम्मीद जा चुकी थी।

टीम एक साथ स्वैप सर्जरी की योजना बनाकर तीनों को नया जीवन देती है। डॉ. अमित रस्तोगी ने कहा, तीन लिवर ट्रांसप्लांट करने का मतलब है एक साथ छह सर्जरी करना। यह एक बहुत बड़ा कार्य है। डॉ. नरेश त्रेहन ने इस जटिल सर्जरी के लिए टीम को बधाई दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *