हरियाणा: चयनित विभागों में ग्रुप-सी भर्ती, नौकरियों में उत्कृष्ट खिलाड़ियों को तीन प्रतिशत कोटा

अब हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (HSSC) द्वारा किसी भी वर्ष में विज्ञापित ग्रुप सी पदों में से तीन प्रतिशत OSP और ESP के लिए होंगे

हरियाणा: चयनित विभागों में ग्रुप-सी भर्ती, नौकरियों में उत्कृष्ट खिलाड़ियों को तीन प्रतिशत कोटा

हरियाणा में ग्रुप सी के तीन प्रतिशत पद उत्कृष्ट खिलाड़ियों (ओएसपी) और योग्य खिलाड़ियों (ईएसपी) द्वारा भरे जाएंगे। ये पद गृह विभाग, खेलकूद एवं युवा मामले विभाग, स्कूल शिक्षा विभाग और बेसिक शिक्षा विभाग जैसे चुनिंदा विभागों में ही होंगे. मुख्य सचिव संजीव कौशल ने बताया कि हरियाणा सरकार ने अलग कोटा बनाने का फैसला किया है

अब हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (एचएसएससी) द्वारा किसी भी वर्ष विज्ञापित ग्रुप सी पदों में से तीन प्रतिशत ओएसपी और ईएसपी के लिए होंगे।

हरियाणा उत्कृष्ट खिलाड़ी (ग्रुप ए, बी एवं सी) सेवा नियमावली-2021 के तहत ग्रुप सी के पदों पर नियुक्ति के बाद इस पृथक कोटे में शेष पदों के लिए खेल विभाग के मौजूदा निर्देशों के अनुसार अलग से रोस्टर रजिस्टर एवं यूथ अफेयर्स, हरियाणा सरकार। कर देंगेंचयन प्रक्रिया के माध्यम से पदों को अलग से विज्ञापित करने के लिए एचएसएससी को एक अनुरोध भी भेजा जाएगा। केवल ओएसपी और ईएसपी उम्मीदवारों को ही आवेदन करने की अनुमति होगी।

वर्ष 1993 में बनी जॉब पॉलिसी में ए, बी, सी में खिलाड़ियों के लिए तीन प्रतिशत तथा ग्रुप डी में 10 प्रतिशत कोटा निर्धारित किया गया था। एक वर्ष पूर्व खेल विभाग द्वारा तीन प्रतिशत खेल कोटे को समाप्त करने का प्रस्ताव रखा गया था। इसके पीछे तर्क यह था कि सरकार पदक विजेता खिलाड़ियों की सीधी भर्ती कर रही थी। अब सरकार ने ग्रुप सी के लिए तीन प्रतिशत कोटा बहाल कर दिया है

अब हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (एचएसएससी) द्वारा किसी भी वर्ष विज्ञापित ग्रुप सी पदों में से तीन प्रतिशत ओएसपी और ईएसपी के लिए होंगे।

हरियाणा उत्कृष्ट खिलाड़ी (ग्रुप ए, बी एवं सी) सेवा नियमावली-2021 के तहत ग्रुप सी के पदों पर नियुक्ति के बाद इस पृथक कोटे में शेष पदों के लिए खेल विभाग के मौजूदा निर्देशों के अनुसार अलग से रोस्टर रजिस्टर एवं यूथ अफेयर्स, हरियाणा सरकार। कर देंगें

चयन प्रक्रिया के माध्यम से पदों को अलग से विज्ञापित करने के लिए एचएसएससी को एक अनुरोध भी भेजा जाएगा। केवल ओएसपी और ईएसपी उम्मीदवारों को ही आवेदन करने की अनुमति होगी।

वर्ष 1993 में बनी जॉब पॉलिसी में ए, बी, सी में खिलाड़ियों के लिए तीन प्रतिशत तथा ग्रुप डी में 10 प्रतिशत कोटा निर्धारित किया गया था। एक वर्ष पूर्व खेल विभाग द्वारा तीन प्रतिशत खेल कोटे को समाप्त करने का प्रस्ताव रखा गया था। इसके पीछे तर्क यह था कि सरकार पदक विजेता खिलाड़ियों की सीधी भर्ती कर रही थी। अब सरकार ने ग्रुप सी के लिए तीन प्रतिशत कोटा बहाल कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *