हरियाणा: राष्ट्रपति ने किया निरोगी हरियाणा योजना के पहले चरण का उद्घाटन, बच्चों व बुजुर्गों को निरोगी कार्ड सौंपे

हरियाणा: राष्ट्रपति ने किया निरोगी हरियाणा योजना के पहले चरण का उद्घाटन, बच्चों व बुजुर्गों को निरोगी कार्ड सौंपे

राष्ट्रपति ने तीन वर्षीय मोक्ष को स्वास्थ्य कार्ड भी भेंट किया। मोक्ष अपनी मां रूपा के साथ कार्यक्रम में पहुंचे थे। राष्ट्रपति से कार्ड मिलने के बाद वह काफी उत्साहित नजर आए। उन्होंने प्रदेश सरकार के साथ राष्ट्रपति का भी आभार जताया।

हरियाणा की कुरुक्षेत्र की अध्यक्ष द्रौपदी मुर्मू ने राज्य सरकार के अंत्योदय परिवारों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए निरोगी हरियाणा योजना के पहले चरण की शुरुआत की है। राष्ट्रपति ने इस योजना का शुभारंभ करते हुए बाल मोक्ष के साथ वृद्ध नसीब सिंह को स्वास्थ्य कार्ड भी सौंपा।

कार्यक्रम में मोक्ष अपनी मां रूपा के साथ पहुंचे थे. राष्ट्रपति से कार्ड पाकर नसीब सिंह बहुत खुश हुए। उधर, राष्ट्रपति से कार्ड मिलने से मोक्ष के माता-पिता भी काफी उत्साहित थे। उन्होंने प्रदेश सरकार के साथ राष्ट्रपति का भी आभार जताया।

खेड़ी रामनगर के 60 वर्षीय ई-रिक्शा चालक नसीब सिंह ने बताया कि वह करीब छह साल से हाइपर लिपिडिमिया का शिकार है। इस बीमारी के कारण उनके शरीर का मोटापा बढ़ता जा रहा है। हाल ही में उन्होंने एलएनजेपी अस्पताल में अपने सारे टेस्ट करवाए, जिसके बाद उन्हें अपनी बीमारी के बारे में पता चला। राष्ट्रपति ने खुद उन्हें स्वास्थ्य कार्ड भेंट किया।

वहीं, सीएम मनोहर लाल ने उनका हौसला बढ़ाते हुए कहा कि अब आपका इलाज बिल्कुल मुफ्त होगा। इलाज के लिए कहीं भटकने की जरूरत नहीं है। जल्द ही उनके इलाज की प्रक्रिया शुरू होनी चाहिए। कहा कि डॉक्टरों ने उन्हें एक महीने की दवा दी है।

एक महीने के बाद उनका दोबारा टेस्ट होगा। डॉक्टरों ने दवा के साथ-साथ उन्हें कुछ व्यायाम करने की भी सलाह दी है। इसके साथ तला हुआ और वसायुक्त भोजन का सेवन वर्जित है। सरकार की इस योजना से उन्हें काफी फायदा होगा, क्योंकि उनका इलाज मुफ्त होगा।

मासूम में खून की कमी पाई गई
राष्ट्रपति ने मॉडल टाउन निवासी तीन वर्षीय मोक्ष को एक स्वास्थ्य कार्ड भी प्रदान किया। कार्यक्रम में मोक्ष अपनी मां रूपा के साथ पहुंचे थे. मोक्ष के पिता सुनील ने बताया कि हाल ही में उन्होंने मोक्ष का टेस्ट कराया था. रिपोर्ट में उसके शरीर में एनीमिया पाया गया। डॉक्टरों ने एक महीने की दवा दी है। उसके बाद फिर से टेस्ट किया जाएगा और रिपोर्ट के अनुसार इलाज किया जाएगा। सीएमओ डॉ. सुखबीर सिंह ने बताया कि विभाग की ओर से 203 लोगों के टेस्ट किए जा चुके हैं. उसकी रिपोर्ट अभी नहीं आई है। सरकार की योजना के मुताबिक जरूरतमंदों के लिए हेल्थ कार्ड बनाए जाएंगे। अब नसीब सिंह और बच्चे मोक्ष को एक महीने की दवा दी गई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *