Hisar News : यशी कंपनी ने सर्वे रिपोर्ट में नाम व क्षेत्र गलत दिखाया, ठीक करने को पैसे भी दिए, फिर भी समस्या है

Hisar News : यशी कंपनी ने सर्वे रिपोर्ट में नाम व क्षेत्र गलत दिखाया, ठीक करने को पैसे भी दिए, फिर भी समस्या है

जिले में 70 पेट्रोलिंग दलों का गठन किया गया है। तीन गांवों में पेट्रोलिंग पार्टी बनाई गई है। 17 स्थानों पर ब्लॉक बनाए गए हैं। करीब 4000 पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है

हुसार। संपत्ति कर की समस्याओं को लेकर गुरुवार को नगरवासी पार्षद अमित ग्रोवर के नेतृत्व में एकत्र हुए और नगर निगम कार्यालय पहुंचे. इनमें अधिकांश बुजुर्ग भी शामिल हैं, जो संपत्ति कर की समस्या के समाधान के लिए कई महीनों से निगम कार्यालय के चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन उनकी समस्या का समाधान नहीं हो रहा है. इस मामले को लेकर अमित ग्रोवर ने सचिव नवीन नांदल से भी मुलाकात की और लोगों की समस्याओं के समाधान की मांग उठाई. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि 29 नवंबर को क्षेत्रवासियों को साथ लेकर बैठक का विरोध करेंगे। अगर पहले ही दिन इस मामले में कड़े फैसले नहीं लिए गए तो बाकी के दो दिन भी वह इस बैठक का विरोध करेंगे. दूसरी ओर, संपत्ति कर शाखा की कार्यप्रणाली में सुधार के लिए निगम प्रशासन ने हॉट्रॉन से 12 कुशल कर्मचारियों को लेने का निर्णय लिया है

शहरवासियों ने कहा
मेरा घर 173.33 वर्ग गज में बना है और इसकी रजिस्ट्री मेरी पत्नी तारा यादव के नाम है। लेकिन सर्वे में कंपनी ने एरिया बदलकर 73 वर्ग गज कर दिया और मालिक का नाम राजकुमार बताया। एक बार कंपनी का कर्मचारी घर आया तो उसने बाइक का पेट्रोल खत्म करने के नाम पर मुझसे 100 रुपए भी लिए, लेकिन आज तक इन गलतियों को नहीं सुधारा।

अजय कुमार, चंदूलाल बाग
मेरी सास लक्ष्मी ने राजरानी नाम की महिला से 75 गज की संपत्ति खरीदी थी। अब उनका निधन हो गया है। मैंने निगम से इसकी एनओसी ली थी। एनओसी संपत्ति को 146 गज और मालिक का नाम राजरानी के रूप में दिखाता है। मैं तीन महीने से निगम के चक्कर काट रहा हूं। तीन बार आवेदन किया लेकिन रिजेक्ट हो गए।
-आशा रानी
नीलामी में HSVP से सिंगल स्टोरी बूथ लिया। इसकी नई संपत्ति आईडी बनवाने के लिए 12 सितंबर को आवेदन किया था, लेकिन आज तक नई आईडी नहीं बन पाई है। मेरी फ़ाइल संख्या 2288 है।
मनीष, सेक्टर 13
मेरे घर की रजिस्ट्री 325 वर्ग गज की है, जबकि इसे घटाकर 333 वर्ग गज कर दिया गया है. मैंने सुधार के लिए आवेदन किया था। 29 अक्टूबर को फाइल लेवल टू में भी पहुंच गई थी। लेकिन आज तक समस्या का समाधान नहीं हुआ है।
एचएस बजाज, बैंक कॉलोनी
बिगड़ गई शाखा की व्यवस्था : ग्रोवर
प्रॉपर्टी टैक्स शाखा के दो क्लर्क दीपक और राजकुमार छुट्टी पर हैं. सीएम विंडो और 2 लिपिक की कोर्ट ड्यूटी लगाई गई है। मात्र तीन लिपिक कार्यरत हैं। एक क्लर्क पिछले एक हफ्ते से छुट्टी पर है। उनके स्थान पर एक क्लर्क गुरविंदर को दीपक की लंबित फाइलों को फाइल अपडेट के साथ निपटाने के लिए प्रतिनियुक्त किया गया है। पिछले एक हफ्ते से दीपक के इलाके की फाइलें पेंडिंग हैं और नई फाइलें लगाई जा रही हैं। सीएम विंडो व कोर्ट के कार्यों में ड्यूटी लगने के बाद भी रजनीश व पवन लिपिक के स्थान पर कोई ड्यूटी नहीं लगाई गई है. ऐसे में व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है।
हाउस टैक्स को लेकर भ्रष्टाचार का अड्डा बना नगर निगम : श्योराण
हिसार संघर्ष समिति ने नगर निगम में हाउस टैक्स को लेकर व्याप्त भ्रष्टाचार व रंगदारी नीति पर गहरा रोष प्रकट करते हुए आंदोलन की चेतावनी दी है. कमेटी के अध्यक्ष जितेंद्र श्योराण ने कहा कि हाउस टैक्स को लेकर एचएसवीपी सेक्टरों में भारी दरार है। यदि नगर निगम इन भूखंडों पर हाउस टैक्स लगाना चाहता है, तो इसकी प्रतिपूर्ति प्लॉट धारक के बजाय एचएसवीपी को की जानी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *