रेलवे में जमीन के बदले नौकरी, सीबीआई ने लालू यादव समेत 16 के खिलाफ FIR दर्ज

रेलवे में जमीन के बदले नौकरी, सीबीआई ने लालू यादव समेत 16 के खिलाफ FIR दर्ज

आरोप है कि लालू यादव ने रेल मंत्री रहते हुए गुपचुप तरीके से पटना के 12 लोगों को ग्रुप डी में नौकरी दी और पटना में जमीन लिखने के लिए कह दिया. सीबीआई का दावा है कि भूखंड लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी, बेटी मीसा भारती और हेमा यादव के नाम दर्ज किए गए थे और जमीन का नाममात्र मूल्य नकद में दिया गया था।

सीबीआई ने नौकरी के बदले कथित भूमि घोटाला मामले में लालू प्रसाद यादव के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। आरोप है कि लालू यादव ने रेल मंत्री रहते हुए गुपचुप तरीके से पटना के 12 लोगों को ग्रुप डी में नौकरी दी और पटना में अपने परिवार के सदस्यों के नाम जमीन लिखवा दी. सीबीआई का दावा है कि भूखंड लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी, बेटी मीसा भारती और हेमा यादव के नाम पंजीकृत थे और जमीन का नाममात्र मूल्य नकद में भुगतान किया गया था।

चार्जशीट में पूर्व रेल मंत्री लालू यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी, उनकी बेटी मीसा भारती समेत कुल 16 आरोपियों के नाम शामिल हैं. चार्जशीट में कहा गया है कि रेलवे अधिकारियों द्वारा उम्मीदवारों को जमीन के बदले बेवजह जल्दबाजी में नौकरी दी गई. बदले में इन लोगों ने राबड़ी देवी, मीसा भारती व अन्य के नाम जमीन लिख दी थी।

अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश गीतांजलि गोयल के समक्ष शुक्रवार को राउज एवेन्यू कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की गई। हालांकि जज के छुट्टी पर होने पर चार्जशीट में संज्ञान नहीं लिया जा सका।

इस साल अगस्त में सीबीआई ने राजद से जुड़े लोगों और लालू प्रसाद यादव के परिवार के सभी ठिकानों पर छापेमारी की थी. बिहार, दिल्ली और हरियाणा में 25 स्थानों पर छापे मारे गए। इस मामले में सीबीआई ने 18 मई 2022 को भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और आईपीसी की धारा 120बी के तहत प्राथमिकी दर्ज की थी। जिसमें लालू यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी, बेटियों मीसा भारती और हेमा यादव समेत 12 लोगों को भी आरोपी बनाया गया है, जिन्होंने कथित तौर पर लालू परिवार को जमीन देकर नौकरी की थी.

नौकरी की जगह जमीन घोटाला क्या है?

जानकारी के मुताबिक पटना में तीन सेल डीड राबड़ी देवी के नाम है. दो डीड फरवरी 2008 की है, जिसमें 3375-3375 वर्ग फीट के 2 प्लॉट हैं। तीसरी सेल डीड 2015 की है जिसमें 1360 वर्ग फीट का प्लॉट है। इसके अलावा पटना में ही 2007 में लालू की बेटी मीसा भारती के नाम से एक सेल डीड है, जिसमें उन्हें 80,905 वर्ग फुट का प्लॉट दिया गया था. पटना में ही दो गिफ्ट डीड लालू की बेटी हेमा यादव के नाम हैं. जिसमें हेमा यादव को 3375 वर्ग फुट का प्लॉट दिया गया था। 2014 में हेमा यादव को एक और 3375 वर्ग फुट का प्लॉट उपहार में दिया गया था।

एके इंफोसिस्टम्स नाम की कंपनी के नाम एक डीड कराई गई, जिसमें 9527 वर्ग फुट का प्लॉट दिया गया। बाद में राबड़ी देवी इस कंपनी की निदेशक बनीं। गौर करने वाली बात यह है कि जिन लोगों ने या जिनके परिवार के सदस्यों ने ये जमीन लालू के परिवार वालों को दी, उन सभी को लालू यादव के मंत्री रहते हुए रेलवे में नौकरी दी गई।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *