महेंद्रगढ़-नारनौल : दिसंबर 2026 तक बंद हो जाएंगे 1432 डीजल ऑटो, चालकों को रोजी-रोटी की चिंता

महेंद्रगढ़-नारनौल : दिसंबर 2026 तक बंद हो जाएंगे 1432 डीजल ऑटो, चालकों को रोजी-रोटी की चिंता

केंद्र सरकार के वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने दिसंबर 2026 तक एनसीआर के 14 जिलों में डीजल ऑटो को चरणबद्ध तरीके से बंद करने का निर्णय लिया है। ऐसे में जिले के 1432 ऑटो बंद रहेंगे। जिले में सिर्फ इलेक्ट्रिक और सीएनजी ऑटो ही चलेंगे। हालांकि अभी तक शासन की ओर से आरटीए विभाग को कोई पत्र नहीं आया है। इस वजह से डीजल ऑटो के रजिस्ट्रेशन का काम चल रहा है, लेकिन अब जो भी डीजल ऑटो खरीदेगा उसे भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है. वहीं ऑटो चालकों ने कहा कि परिवार पर रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो जाएगा। इसलिए सरकार को फैसला वापस लेना चाहिए।

बता दें कि केंद्र सरकार का वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग 1 जनवरी 2023 से एनसीआर में पड़ने वाले राज्य के 14 जिलों में डीजल ऑटो का रजिस्ट्रेशन बंद कर देगा. सरकार ने एनसीआर क्षेत्र में वायु गुणवत्ता में सुधार के लिए यह निर्णय लिया है। 01 जनवरी 2023 से जिले में सिर्फ इलेक्ट्रिक व सीएनजी ऑटो का ही रजिस्ट्रेशन होगा। इसके अलावा 31 दिसंबर 2026 तक पहले से चल रहे डीजल ऑटो पूरी तरह से बंद हो जाएंगे. इससे जिले के अंदर 1432 ऑटो रुकेंगे। सरकार के इस आदेश के बाद ऑटो चालकों में हड़कंप मच गया है। उनका कहना है कि सरकार को यह फैसला वापस लेना चाहिए। इसी से उनके परिवार की रोजी-रोटी चल रही है। उन्होंने दूसरा कर्ज लेकर ऑटो खरीदा है, जब ऑटो बंद होगा तो उन्हें लाखों रुपये का नुकसान होगा।

जिले में पंजीकृत व्यवसायिक वाहन – 10663
ऑटो लोडिंग – 461
ऑटो पैसेंजर – 971
गुरुग्राम प्रशासन की तर्ज पर सब्सिडी दी जाए
ऑटो चालकों ने कहा कि गुरुग्राम में प्रशासन द्वारा डीजल ऑटो को ई-ऑटो में बदलने के लिए 50,000 रुपये की सब्सिडी दी गई थी। यह नियम यहां भी लागू होना चाहिए ताकि ऑटो चालक अपने ऑटो को ई-ऑटो या सीएनजी में कन्वर्ट करवा सकें।
सरकार के नियम गरीब लोगों पर भारी पड़ेंगे। गरीब आदमी ऑटो से मजदूरी कर रहा है लेकिन सरकार ने नए नियम लाकर गरीब आदमी को मार डाला है। पुराना ऑटो ठीक चल रहा था। -सुनील कुमार.
सरकार के नए नियम से पुराने ऑटो वाले लोग बेरोजगार हो जाएंगे क्योंकि वे महंगाई की वजह से सीएनजी ऑटो नहीं खरीद सकते। गरीब आदमी बेरोजगार न हो, इसके लिए प्रशासन को गुरुग्राम की तर्ज पर इसे ई-ऑटो में बदलने के लिए 50 हजार रुपये की सब्सिडी दी जानी चाहिए। -ओम प्रकाश।
सीएनजी ऑटो करीब 5 लाख रुपये में आ रहा है, जिससे इसे लेने में घाटा हो रहा है। अब यह बिल्कुल काम नहीं करता। नए नियम लाकर सरकार पुराने ऑटो चालकों को बेरोजगार करने पर तुली हुई है। -मोहन लाल.
सरकार के नए नियम के मुताबिक सीएनजी ऑटो लेना होगा। एक ही ऑटो की कमाई से परिवार का गुजारा नहीं चल रहा है तो सीएनजी ऑटो कैसे खरीदेंगे। सरकार के शासन से उन्हें नुकसान होगा। जहाँगीर।
जिले में 1432 यात्री व लोडिंग ऑटो पंजीकृत हैं। अभी तक सरकार की तरफ से डीजल ऑटो का रजिस्ट्रेशन बंद करने का कोई आदेश नहीं आया है। सरकार के आदेश के अनुसार उसका पालन किया जाए।
गजेंद्र शर्मा, आरटीए, जिला महेंद्रगढ़।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *