दिन भर श्रद्धालुओं को वापस लाती रही पानीपत डिपो की बसें

पानीपत। पानीपत बस डिपो की बसें हर बार की तहर पूरे हरियाणा में सबसे ज्यादा हरिद्वार के लिए बसों का संचालन कर श्रद्धालुओं को वापस लाने में लगी रहीं। शिवरात्रि के दिन पानीपत बस डिपो की ओर से यात्रियों को वापस लाने का स्पेशल अभियान चलाया गया। इसमें डिपो से बसों को भेजकर उनको वापस लाने का काम किया गया। हरिद्वार के लिए यात्री कम होने के कारण डिपो की अधिकतर बसें खाली ही भेजी गईं। शिवरात्रि की एक रात पहले ही डिपो की 20 बसें हरिद्वार चली गई थीं जो रात में यात्रियों को वापस लाने के साथ सुबह होते ही तेजी से वापस लाने में जुट गईं। पानीपत डिपो से दिनभर में 35 से ज्यादा बसें भेजी गईं।

दिन भर श्रद्धालुओं को वापस लाती रही पानीपत डिपो की बसें

अब हरिद्वार के लिए यात्रियों को लगेगा एक घंटा कम समय

अब हरिद्वार जाने के लिए यात्रियों को हरिद्वार जाने और वापस आने के लिए कम समय लगेगा। शिवरात्रि माह होने के कारण कांवड़ियों को ध्यान में रखते हुए शामली रूट को भारी वाहनों के लिए बंद कर दिया गया था। इससे कांवड़ियों को तो लाभ मिल रहा था, लेकिन हरिद्वार जाने वाले यात्रियों का समय बर्बाद हो रहा था। पानीपत बस डिपो की सभी बसों को करनोसे होते हुए हरिद्वार ले जाया जा रहा था। वहीं अब रूट शाम को खुलने के बाद सभी बसों का संचालन पहले की तरह सनौली रूट से ही होगी। इससे पानीपत से हरिद्वार जाने वाले यात्रियों का एक घंटा कम समय और 80 रुपये कम किराया लगेगा।

वर्जन:

श्रद्धालुओं के लिए शिवरात्रि को हरिद्वार से वापस लाने के लिए स्पेशल 30 से ज्यादा बसों का संचालन डिपो की ओर से किया गया। इससे किसी श्रद्धालु को परेशानी न हो। वहीं अब यात्रियों को समय भी कम लेगगा।
कुलदीप जांगड़ा, जीएम बस डिपो

Leave a Reply

Your email address will not be published.