सिरसा :शपथ से पहले सरपंचों पर फर्जी प्रमाण पत्र इस्तेमाल करने का आरोप, जांच के आदेश

सिरसा :शपथ से पहले सरपंचों पर फर्जी प्रमाण पत्र इस्तेमाल करने का आरोप, जांच के आदेश

सिरसा। पंचायत चुनाव हो चुके हैं। पंच, सरपंच, प्रखंड समिति सदस्य व जिला परिषद के चुनाव के साथ ही परिणाम आ गया है. अब प्रशासन की ओर से शपथ ग्रहण समारोह कराया जाएगा। इसमें सभी नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों को शपथ दिलाई जाएगी। लेकिन शपथ से पहले ही शिकायतों का दौर शुरू हो गया है. जिले के दो नवनिर्वाचित सरपंचों पर फर्जी प्रमाण पत्र प्रयोग करने का गंभीर आरोप लगाया गया है. शिकायत के आधार पर प्रशासन ने जांच के आदेश दे दिए हैं। शिक्षा विभाग से संबंधित सरपंचों के प्रमाण पत्रों का सत्यापन होगा। रिपोर्ट के आधार पर आगे का फैसला लिया जाएगा।

सरपंचों, पंचों के लिए चुनाव 9 नवंबर को और ब्लॉक समिति सदस्यों, जिला परिषद सदस्यों के लिए 12 नवंबर को मतदान हुआ था। इसके बाद नतीजे भी निकाल दिए गए। अब शिकायतों का सिलसिला शुरू हो गया है। गांव साहूवाला द्वितीय व गांव दादू के नवनिर्वाचित सरपंचों के खिलाफ प्रशासन को शिकायत मिली है. आरोप है कि दोनों नवनिर्वाचित सरपंचों ने नामांकन के वक्त फर्जी प्रमाण पत्र पेश किया और चुनाव लड़कर सरपंच बन गए। इसलिए उन्होंने मांग की है कि इसकी जांच कराई जाए और रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाए। जिला प्रशासन ने दोनों मामलों की जांच के आदेश दिए हैं।

बताया जा रहा है कि गांव साहूवाला के दूसरे निवासी सुशील चाहर ने आरोप लगाया है कि नवनिर्वाचित सरपंच ने चुनाव प्रक्रिया के दौरान गलत व फर्जी दस्तावेज व जानकारी दी है. उन्होंने दोषी पाए जाने और जांच किए जाने पर उम्मीदवारी रद्द करने की गुहार लगाई है। इसके अलावा गांव दादू निवासी एक व्यक्ति ने डीसी को शिकायत भेजकर आरोप लगाया है कि उनके गांव के नवनिर्वाचित सरपंच ने खुद परीक्षा देने के बजाय किसी अन्य व्यक्ति के साथ बैठकर 10वीं का प्रमाण पत्र हासिल कर लिया. साथ ही आरोप लगाया कि ये प्रमाण पत्र फर्जी और जाली बनवाए गए हैं। इसलिए जांच और कार्रवाई की मांग की गई है।
डीसी ने दिए जांच के आदेश, जांच प्रखंड अधिकारियों को सौंपी
नवनिर्वाचित सरपंचों की शिकायत के आधार पर डीसी पार्थ गुप्ता ने जांच के आदेश दिए हैं. इसकी जांच जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी के माध्यम से कराई जाएगी। इसके लिए संबंधित प्रखंड विकास एवं पंचायत अधिकारी को जांच के आदेश दिए गए हैं. अब उक्त अधिकारी प्रमाण पत्रों की जांच कराएंगे और शिक्षा विभाग से प्रमाण पत्रों का सत्यापन कराएंगे। अगर रिपोर्ट में कोई सच्चाई सामने आती है तो आगे की कार्रवाई की जाएगी।
तीन दिसंबर को होगा शपथ ग्रहण समारोह, लाइव दिखाया जाएगा सीएम का कार्यक्रम
पंचायत चुनाव के बाद नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों को शपथ दिलाई जाएगी। इसकी तैयारी शुरू कर दी गई है। 3 दिसंबर को जिले भर में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इस संबंध में मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंस बैठक का आयोजन किया गया, जिसे एसीएस ने संबोधित किया. बताया जा रहा है कि डीसी ग्राम स्तर पर सरपंचों, ब्लॉक स्तर पर ब्लॉक समिति सदस्यों और मुख्यालय स्तर पर जिला परिषद सदस्यों को शपथ दिलाएंगे. इन कार्यक्रमों के दौरान मुख्यमंत्री के कार्यक्रमों का सीधा प्रसारण भी दिखाया जाएगा।
रिक्त पंचों के पदों पर भी उपचुनाव होगा
हालांकि जिला परिषद और सरपंच के सभी पदों के लिए चुनाव हो चुका है। लेकिन अब भी पंचों के कई पद खाली पड़े हैं। कहीं आवेदन नहीं मिलने से तो कहीं नामांकन रद्द होने के कारण यह रिक्त रहा। ऐसे में अब इन खाली पदों को उपचुनाव के जरिए भरा जाएगा। इन रिक्त पदों पर छह माह के भीतर उपचुनाव कराने का प्रावधान है।
दो नवनिर्वाचित सरपंचों को लेकर शिकायत मिली है। जांच के आदेश दे दिए गए हैं। रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। तीन दिसंबर को नवनिर्वाचित सरपंचों, पंचों, प्रखंड समिति सदस्यों व जिला परिषद सदस्यों को शपथ दिलायी जायेगी. इसकी तैयारी पूरी कर ली गयी है.
राजेश कुमार, डीडीपीओ, सिरसा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *