42 CCTV कैमरों से 24 घंटे होगी अत्याधुनिक नए बस स्टैंड की निगरानी

फतेहाबाद। 20 करोड़ रुपये की लागत से बने नए बस स्टैंड में सुरक्षा को लेकर कड़े बंदोबस्त किए गए हैं. आगजनी से बचने के लिए बस स्टैंड में अग्निशमन यंत्रों के अलावा उच्च गुणवत्ता वाले स्प्रिंकलर लगाए गए हैं, जिससे आगजनी होते ही पलक झपकते ही पानी बरसना शुरू हो जाएगा। वहीं, बस स्टैंड पर 24 घंटे 42 सीसीटीवी से नजर रखी जाएगी।

42 CCTV कैमरों से 24 घंटे होगी अत्याधुनिक नए बस स्टैंड की निगरानी

फतेहाबाद के हुडा सेक्टर-5 में 20 करोड़ की लागत से नया बस स्टैंड बनाया गया है और इसकी लागत 20 करोड़ से ज्यादा है. फतेहाबाद का यह नया बस स्टैंड पूरे राज्य में सबसे आधुनिक सुविधाओं से लैस है। बस स्टैंड की सुरक्षा और आगजनी जैसी दुर्घटनाओं से बचने के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं। लोक निर्माण विभाग की इलेक्ट्रिक विंग ने नए बस स्टैंड में 42 सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं. इन कैमरों को बस स्टैंड के बाहर सहित बस स्टैंड के सभी तलों पर लगाया गया है और पहली मंजिल पर दो एलसीडी लगाई गई हैं, जिन पर कैमरे के माध्यम से पूरे बस स्टैंड पर बैठे कर्मचारियों की निगरानी की जाती है. डायलॉग करते रहेंगे

सभी जगहों पर 38 अग्निशमन यंत्र व स्प्रिंकलर लगाए गए हैं
नए बस स्टैंड में 38 अग्निशमन यंत्र लगाए गए हैं। साथ ही पहली मंजिल से तीसरी मंजिल तक स्प्रिंकलर लगाए गए हैं। आगजनी होते ही इन स्प्रिंकलर में लगे सेंसर अलर्ट हो जाएंगे और इनमें लगे फाउंटेन चारों ओर घूमेंगे और पानी का छिड़काव करेंगे, जिससे आग बुझ जाएगी। इन स्प्रिंकलर को बस स्टैंड के बूस्टिंग स्टेशन से जोड़ा गया है, ताकि पानी की किल्लत न हो. इसके अलावा यहां दो हाई मार्क लाइट, 62.5 केवीए ट्रांसफॉर्मर, पावर सब-स्टेशन भी बनाया गया है.
परत
नए बस स्टैंड में अग्नि सुरक्षा और सुरक्षा के लिए कई उपकरण लगाए गए हैं। 42 सीसीटीवी कैमरों से पूरे बस स्टैंड पर नजर रखी जाएगी. इसके अलावा, अग्नि सुरक्षा उपकरण लगाए गए हैं और विशेष रूप से तेज आग के समय अग्नि सुरक्षा बुझानेवाले लगाए गए हैं। आग लगने पर फव्वारों में लगे सेंसर से पानी अपने आप बाहर आने लगेगा। अधिक आग की आशंका को देखते हुए यहां एक बड़ी पाइपलाइन भी लगाई गई है।
सुमेर, एसडीओ बी एंड आर (इलेक्ट्रिक), फतेहाबाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published.