हिसार के खेतों में जलभराव की समस्या, फसलें हो रही खराब

हिसार के कई गांवों में किसानों को अत्यधिक वर्षा से नुकसान हुआ है। इसमें नारनौंद के गांव राजथल भैणी अमीरपुर सुलचानी नारनौंद राखी शाहपुर राखी खास बुडाना मिर्चपुर गैबी नगर कापड़ों बास बड़ाला भकलाना आदि गांव के खेतों में पानी भरा हुआ है।

हिसार के खेतों में जलभराव की समस्या, फसलें हो रही खराब, अब ड्रेन टूटने का खतरा बना

हिसार, जागरण संवाददाता। हिसार के गंगवा से तीन किलोमीटर दूर स्थित कैमरी गांव पर वर्षा का पानी निकलने के लिए बनी ड्रेन ओवरफ्लो हो गई है। किसानों का कहना है कि यह ड्रेन किसी भी समय टूट सकती है और इसका पानी खेलों में फसलों को तबाह कर देगा। वहीं इसके समीप स्थित सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट भी ओवरफ्लो हो गया है। इस एसटीपी प्लांट के समीप लगते खेतों में भी जलभराव होने की संभावना है। इसको लेकर स्थानीय निवासी काफी डरे हुए हैं। क्योंकि कपास की फसल में वैसे ही पहले से वर्षा अधिक होने के चलते काफी दिक्कतें पेश आ रही हैं।

किसानों को नुकसान उठाना पड़ा

अब STP का पानी ओवरफ्लो हुआ तो फसल डूब सकती है। ऐसे में मामले की गंभीरता को देखते हुए स्थानीय खेत मालिक पहले तो आजाद नगर थाने में शिकायत लेकर पहुंचे जहां उन्हें बताया गया कि वह अपनी शिकायत प्रशासन से करें। इसके बाद वह सुबह STP प्रबंधन से समस्या के समाधान की गुहार लगा रहे हैं। इधर वर्षा के पानी की ड्रेन ओवरफ्लो हुई है उसको लेकर ग्रामीणों का कहना है कि पातन के समीप यह ड्रेन फुल है और किसी भी समय टूट सकती है। ऐसे में वर्षा का जल खेतों में चला जाएगा और किसानों को नुकसान होगा। गौरतलब है कि यह ड्रेन पिछले साल भी ओवरफ्लो होने से टूट गई थी और किसानों को नुकसान उठाना पड़ा था।

अधिकारियों ने समस्या समाधान का दिया है आवश्वासन

किसान मांगे राम पंघाल ने बताया कि इस मामले में STP के ठेकेदार से बात हुई है। उन्होंने कहा कि संबंधित अधिकारियों से बात हुई है। जल्द ही इस समस्या का समाधान कराया जाएगा। अभी तक पक्का खाला होने के कारण पानी आगे नहीं बढ़ सका है। मगर STP का जल और ओवरफ्लो हुआ तो काफी दिक्कत आ सकती है। उन्होने बताया कि शुक्रवार से अत्यधिक वर्षा होने के कारण ड्रेनेज में पानी बढ़ता ही जा रहा है।

किसानों का अत्यधिक वर्षा से हुआ नुकसान

जिले के कई गांवों में किसानों को अत्यधिक वर्षा से नुकसान हुआ है। इसमें नारनौंद के गांव राजथल, भैणी अमीरपुर, सुलचानी, नारनौंद, राखी शाहपुर, राखी खास, बुडाना, मिर्चपुर, गैबी नगर, कापड़ों, बास, बड़ाला, भकलाना आदि गांव के खेतों में पानी भरा हुआ है और किसान अपने स्तर पर ही उसको निकालने के लिए जुटे हुए हैं। वहीं प्रशासन की तरफ से भी अनेक गांव में पानी को निकालने के लिए कड़े प्रयास किए जा रहे हैं। भैणी अमीरपुर के किसान ईश्वर ने बताया कि उसने करीब 30 हजार रुपए खर्च करके धान की फसल की रोपाई की थी बारिश के पानी के कारण पूरे खेत में पानी भर गया और पूरी फसल बर्बाद हो गई। प्रशासन के अधिकारियों से काफी बार शिकायत कर चुके हैं। लेकिन प्रशासन की तरफ से अभी तक कोई सहायता नहीं मिली।

Tags :

Leave a Reply

Your email address will not be published.